Call us - +91 9639009995, +91 8192000780

Anathalaya Education, Awarded India's Best Anathalaya, International Anathalaya

यशोदा वाटिका

                                 "यही पशु प्रवृत्ति है कि आप आप ही चरे,
                                   वही मनुष्य है जो मनुष्य के लिये मरे।"

'माँ'-दुनियाँ का सबसे विश्वसनिय एवं वात्सल्यपूर्ण शब्द है। किन्तु विडम्बना है कि अनगिनत ऐसे बच्चे हैं जिन्हें माँ का लाड़-प्यार एवं आंचल सुलभ नहीं हो पाता। यशोदा वाटिका ऐसी ही बालिकाओं को ममता, आश्रय एवं सुरक्षा प्रदान करने का प्रयास है। जिस प्रकार माँ यशोदा ने भगवान श्रीकृष्ण को सगी माँ से ज्यादा स्नेह एवं संरक्षण प्रदान किया था, उसी प्रकार यशोदा वाटिका की समर्पित संरक्षिकायें भी बालिकाओं पर मातृतुल्य स्नेह बरसाकर उनकी नियमित देखभाल एवं मार्गदर्शन करती हैं जिससे वे भविष्य में आत्मनिर्भर बन एक सम्मानजनक जीवन सुनिश्चित कर सकें। देश की राजधानी दिल्ली से 50 कि0 मी0 दूर गंग नहर के किनारे चारों और हरियाली से घिरी 'यशोदा वाटिका' निर्धन  असहाय बालिकाओं के निमित्त निर्मित वात्सल्यपूर्ण आश्रय है जहाँ इन बालिकाओं का रहन-सहन, खानपान, शिक्षा आदि सब कुछ पूर्णतः निःशुल्क है। यह चड्ढा चैरिटेबल ट्रस्ट का एक सामाजिक सरोकार है।

यशोदा वाटिका में स्वादिष्ट एवं स्वास्थ्यप्रद आहार, साफ सुथरे वस्त्र एवं स्वास्थ्यानुकूल रहनसहन पर विशेष जोर दिया जाता है। बच्चों की प्रतिभानुरुप उनके कला- कौशल एवं व्यावसायिक कौशल का समुचित विकास 'यशोदा वाटिका' की वरीयता सूची में ऊँचे स्थान पर हैं। नैतिक एवं मानवमूल्यों से युक्त उत्कृष्ट जीवन शैली सर्वोपरि हैं।

एकल अभिभावक की स्थिति में अर्थात् बच्चे के माता और पिता में से सिर्फ एक ही जीवित है और बालिका के लालन-पालन व शिक्षा में धनादि की बाधायें हैं तो ऐसी बालिकाओं को 'यशोदा वाटिका' में मात्र एक हजार रुपये प्रतिमाह के अंशदान पर संपूर्ण संरक्षण एवं स्नेह प्रदान किया जाता है। अत्यन्त निर्धनता जैसी विशेष परिस्थति (Special Case) में निःशुल्क प्रवेश भी दिया जा सकता है।

Best Anathalaya Websites India, Best Anathalaya to Work for International
Anathalaya for Girl, India girl Anathalaya

  डा० आर०पी० चड्ढा

यशोदा वाटिका के संस्थापक एवं मुख्य संरक्षक डा० आर० पी० चड्ढा शिक्षा के क्षेत्र में प्रतिष्ठित नाम है। डाॅ० आर० पी० चड्ढा (डाॅ० राम प्रकाश चड्ढा) का जन्म 6 जनवरी, 1951 को चंदौसी, मुरादाबाद उत्तर प्रदेश में हुआ। उन्होंने सन 1971 में आगरा विश्वविद्यालय से एम० एस० सी० मैथ्स की डिग्री हासिल की और अपने पुस्तैनी लकड़ी के व्यवसाय को आगे बढ़ाना शुरू किया। {read more}
Anathalaya
Yashoda Vatika Anathalaya
Education Anathalaya, Anathalaya for Education, Education Development Anathalaya
Poor Girl Child Education in India, Girl Child Education, Education for Poor Children in India

Yashoda Vatika Anathalaya